Blockchain क्या हैं | Blockchain में क्या होता है?

Blockchain क्या हैं को लेकर वर्तमान समय में इंटरनेट पर काफी चर्चा बनी हुई है आए दिन Blockchain को लेकर कोई ना कोई खबर आती रहती है। जैसा कि दोस्तों कुछ ही समय पहले Bitcoin काफी चर्चा का विषय बना हुआ था बिटकॉइन की कीमत कुछ समय पहले दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही थी

और आज भी बिटकॉइन की कीमत कम ज्यादा होती रहती है। तो दोस्तों बिटकॉइन को लेकर आपके मन में जरूर कोई ना कोई प्रश्न आए होंगे अगर आपके मन में यह सवाल आया है कि बिटकॉइन के पीछे क्या टेक्नोलॉजी हो सकती है।

तो दोस्तों आज का यह लेख आप ही के लिए है क्योंकि Blockchain का संबंध बिटकॉइन जैसे क्रिप्टोकरंसी से है। Blockchain क्या हैं की संपूर्ण जानकारी को इस लेख में विस्तार पूर्वक बताया गया है

इस लेख को अंतिम शब्द तक पढ़ने के बाद आप जान जाएंगे की Blockchain क्या हैं  इसके अतिरिक्त भी Blockchain से जुड़ी अन्य जानकारी भी आपको इस लेख में जानने को मिलेगी इसलिए ध्यान पूर्वक आपको इस लेख को आखिरी शब्द तक पढ़ना है।

Blockchain क्या हैं?

साधारण भाषा में अगर समझा जाए तो Blockchain एक तरह का डेटाबेस होता है इस डाटाबेस में जानकारियां टेबल फॉर्मेट में रहती है। यह जो डाटाबेस होता है इस डेटाबेस के अंतर्गत data स्टोर किया जाता है ताकि आवश्यकता अनुसार आसानी से इसे मैनेज किया जा सके मतलब की इसका एक्सेस पाया जा सके।

Blockchain टेक्नोलॉजी का उपयोग वर्ष 2009 में किया गया था और इसे बिटकॉइन के बाद इस्तेमाल किया गया था। अब जैसे कि आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि ब्लॉकचेन को ब्लॉकचेन क्यों कहा जाता है

दोस्तों इसे इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसमें कहीं सारा टाटा कई सारी जानकारी जो कि एक ग्रुप में स्टोर रहती है। और यह जो ग्रुप होता है इसे ही ब्लॉक नाम से जाना जाता है।

यह जितने भी ब्लॉक होते हैं वहां अपनी लिमिट के हिसाब से ही डाटा को स्टोर करने का काम करते हैं जब कभी भी एक ब्लॉक पूरी तरीके से भर जाता है तब उसके पश्चात वह आगे अगले ब्लॉक से जुड़ने का कार्य करती है

और यह प्रक्रिया निरंतर चलती ही रहती है अब जैसे-जैसे ब्लॉक एक दूसरे से कनेक्ट होते जाएंगे यह एक चैन का रूप ले लेते हैं यानी कि यह एक चैन बनाते हैं और ब्लॉक तथा चैन के मिलने की वजह से इसे ब्लॉकचेन के नाम से जाना जाता है।

Blockchain के काम करने का तरीक़ा।

जो भी व्यक्ति Blockchain के बारे में जानकारी को जान रहा है उसके लिए यह भी आवश्यक है कि Blockchain काम कैसे करता है इसके काम करने तरीका क्या है। Blockchain क्या है

वह तो हमने आपको ऊपर बता ही दिया है कि जब एक ब्लॉग दूसरे ब्लॉक से जुड़ता है दूसरा ब्लॉक फिर तीसरे ब्लॉक से जुड़ता है तो ऐसी प्रक्रिया जो चलती रहती है उसे ही Blockchain कहा जाता है।

जब भी Block एक दूसरे के साथ जोड़ रहे होते हैं तब वह डाटा के साथ संबंध रखते हैं और यह जो एक चैन बनती है इस चैन को एक सुरक्षित चैन माना जाता है और इस चैन  को क्रिप्टोग्राफी के द्वारा बनाया जाता है।

जब भी Blockchain के ब्लॉक को बनाया जाता है तो इसे एक खास तरीके को अपनाकर बनाया जाता है इनमें कोई भी मेटा डाटा तथा उसके ट्रांजैक्शन की संपूर्ण जानकारी शामिल रहती है।

ब्लॉकचेन के काम करने का तरीका यही है कि मेटा डाटा को ब्लॉक के अंदर रहता है तथा जो ब्लॉक के अंदर रहता है वह इंडिकेट करके ब्लॉकचेन बनाता है। और यही तरीका ब्लॉकचेन के काम करने का है। अब आप ब्लॉकचेन के काम करने के तरीके को विस्तार पूर्वक जान चुके हैं।

Blockchain के प्रकार क्या है?

जैसा कि आज के इस लेख में हमने आपको ऊपर ब्लॉकचेन से जुड़ी कई जानकारी बताई है अब आपके लिए यह जानना भी अति आवश्यक है की Blockchain के प्रकार तो दोस्तों ब्लॉकचेन के प्रकार 4 हैं। जिनमें कुछ इस प्रकार के Blockchain शामिल है

  • Public blockchain
  • Private blockchain
  • Hybrid blockchain
  • Side chain

Blockchain की विशेषताएं और इसके फायदे –

Blockchain टेक्नोलॉजी को एक सुरक्षित टेक्नोलॉजी माना जाता है इसलिए अनेक सारे व्यक्ति इस पर भरोसा करते हैं आप भी इसके ऊपर भरोसा कर सकते हैं। इसकी कुछ विशेषताएं तथा फायदों को नीचे बताया गया है जो कि कुछ इस प्रकार है:-

अगर बैंकिंग क्षेत्र में इसका उपयोग किया जाए तो डाटा की सुरक्षा करके और भी अन्य कार्य करके भ्रष्टाचार को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

ब्लॉक जोकि एक प्रकार का database है यह एक इलेक्ट्रॉनिक डेटाबेस होता है जिसके चलते पेपर वर्क कम होता है और फिर‌ पर्यावरण स्तर सुरक्षित रहता है।

शिक्षा के क्षेत्र में अगर इस टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाए तो ऐसे में पेपर लीक जैसे मामलों को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

FAQ:

Question – Blockchain क्या हैं?

Answer – Blockchain को हम एक प्रकार का database समझते हैं जिसमें डाटा तथा इंफॉर्मेशन टेबल फॉर्मेट में रहती है। डेटाबेस के अंतर्गत डाटा को स्टोर किया जाता है ताकि जरूरत पड़ने पर उसका एक्सेस किया जा सके। एक ब्लॉक दूसरे ब्लॉक से कनेक्ट होता है तथा फिर वह आगे कनेक्ट होता जाता है इसे है Blockchain कहा जाता हैं।

Question – Blockchain में डाटा कहा स्टोर होता हैं?

Answer – Blockchain में डाटा स्टोर ब्लॉक्स में होता है।

Blockchain को कब बनाया गया?

Answer – सन् 1991 में।

Question – क्या Blockchain Technology सुरक्षित है?

Answer – ज़ी हा Blockchain Technology सुरक्षित है।

निष्कर्ष:

Blockchain क्या हैं और यह काम कैसे करता है तथा इसके अतिरिक्त भी अन्य जानकारियों को आपने जान लिया है यदि Blockchain क्या हैं को लेकर आपको इससे जुड़ी अन्य जानकारियां और चाहिए तो आप हमें कमेंट बॉक्स बता सकते हैं

हम आपके लिए एक और शानदार लेख लाएंगे ताकि आपको उससे Blockchain से जुड़ी और भी अधिक जानकारी मिल सके। अगर आपको ब्लॉकचैन से जुडी कोई भी जानकारी और चाहिए या आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमे कमेंट कर के जरूर बताये।

Leave a Comment