ब्लॉग्गिंग क्या होता है, ब्लॉग्गिंग कितने प्रकार के होते हैं?

ब्लॉग्गिंग क्या होता है, ब्लॉग्गिंग कितने प्रकार के होते हैं? दोस्तों अगर इंटरनेट पर पैसे कमाने का अगर सबसे अच्छा और सबसे सस्ता तरीका है तो वो है ब्लॉग्गिंग। सस्ता इसलिए है क्यूंकि इस फील्ड में आप जीरो रुपया से शुरुवात कर सकते हैं

और बिना एक रुपया भी पैसा कमा सकते हैं। और अच्छा इसलिए है क्यूंकि इसमें आप एक सॉफ्टवेयर डेवलपर जितना एक साल में कमाता है उतना आप एक महीना में कमा सकते हैं।

ब्लॉग्गिंग क्या होता है?

दोस्तों ब्लॉग्गिंग का मतलब होता है वेबसाइट के द्वारा जानकारी और डाटा को शेयर करना। अब यहाँ पर बहुत से लोग शायद ऐसे होंगे जिन्हे यह नहीं पता है की वेबसाइट क्या होता है?

तो आपको बता दें की आप इंटरनेट पर अक्सर कोई फॉर्म भरते होंगे, या आप कोई जानकारी पढ़ते होंगे, या आप इंटरनेट पर कुछ भी देखते हैं तो उसे वेबसाइट कहा जाता है। 

जैसे में अगर आप यूट्यूब पर वीडियो देखते हैं तो वो भी एक तरह का वेबसाइट ही है। या फिर आप फेसबुक चलाते हैं तो यह भी एक वेबसाइट ही है।

कुछ वेबसाइट ऐसे होते हैं जहाँ पर लोग कंटेंट यानी जानकारी शेयर नहीं करते हैं बल्कि उसे अपने बिज़नेस या किसी और मकसद से बनाते हैं। जैसे में किसी कंपनी का वेबसाइट जहाँ पर उनका बिज़नेस का डिटेल होता है ना की उस वेबसाइट को इसलिए बनाया गया है की सभी लोग उस वेबसाइट से जानकारी प्राप्त कर सके। 

यह एक टाटा का वेबसाइट है The Tata group. Leadership with Trust.जो वेबसाइट तो है पर ब्लॉग नहीं है। उसी प्रकार से यह एक और वेबसाइट है रिलायंस कंपनी का Reliance Industries Limited – Retail Markets यह भी एक वेबसाइट है पर ब्लॉग वेबसाइट नहीं है। 

मगर कुछ वेबसाइट को बनाने का मकशद ही यह होता है की वे वेबसाइट लोगो को जानकारी पहुचाये जैसे में विकिपीडिया वेबसाइट।

इसका मतलब यह की वैसे वेबसाइट जो लोगो को जानकारी या कोई सर्विस प्रदान करता है जिससे यूजर को वैल्यू प्रोवाइड हो। वैसे वेबसाइट को ब्लॉग वेबसाइट कहा जाता है। 

ऐसे में लोग अलग – अलग तरीके से लोगो को अलग – अलग टॉपिक पर जानकारी देते हैं। कुछ वेबसाइट स्टॉक मार्केट का होता है जैसे – Business News in Hindi: बिजनेस समाचार मनी कण्ट्रोल वेबसाइट बहुत ही फेमस वेबसाइट है स्टॉक मार्केट के लिए। उसी प्रकार से फिल्मो के बारे में न्यूज़ के लिए  Bollywood Movie News in Hindi | बॉलीवुड & मनोरंजन समाचार एक बहुत ही अच्छा हिंदी फिल्म ब्लॉग है।

ब्लॉग, ब्लॉगर और ब्लॉग्गिंग ये तीनो टर्म्स को अच्छे से समझ ले। 

दोस्तों ब्लॉग, ब्लॉगर और ब्लॉग्गिंग ये तीनो शब्द के अलग – अलग मतलब है लेकिन ये शब्द आपस में काफी मिलते जुलते हैं। हम इस शब्दों को बार – बार अपने आर्टिकल में इस्तेमाल करेंगे इसलिए आइये हम इन टर्मस का मतलब समझ लेते हैं। 

  1. ब्लॉग क्या होता है ? – दोस्तों वैसा वेबसाइट जो लोगो को किसी प्रकार की जानकारी, या सर्विस प्रदान करता है। वैसे वेबसाइट को ब्लॉग वेबसाइट कहा जाता है। जिसे अकसर शार्ट में ब्लॉग भी कहा जाता है।
  2. ब्लॉगर क्या होता है ? – ये सवाल को हम लोग अगर ऐसे बोले की ब्लॉगर किसे कहते हैं ? तो ज्यादा अच्छा रहेगा। इसका मतलब वे लोग जो ब्लॉग वेबसाइट को मैनेज करता है उसे ब्लॉगर कहा जाता है। 
  3. ब्लॉग्गिंग क्या होता है ? – ये सवाल थोड़ा ज्यादा आसान है। ये पुरे ब्लॉग वेबसाइट को मैनेजमेंट करने की प्रिक्रिया को ब्लॉग्गिंग कहा जाता है। उदाहरण के लिए मैं स्टॉक मार्केट पे ब्लॉग्गिंग करता हूँ इसका मतलब यह यह की मैं स्टॉक मार्केट ब्लॉग वेबसाइट को मैनेज करता हूँ। 

ब्लॉग वेबसाइट कितने प्रकार के होता है? 

आइये दोस्तों अब हम जानते हैं की ब्लॉग वेबसाइट कितने प्रकार के होते है। दोस्तों ब्लॉग वेबसाइट को हम अलग – अलग केटेगरी के हिसाब से अलग – अलग टाइप्स में बात सकते हैं। आइये हम कुछ प्राकर के केटेगरी के बारे में पहले जान लेते हैं। 

  1. पहला नीच के अनुसार। 
  2. दूसरा भाषा के अनुसार। 
  3. तीसरा जगह के अनुसार। 
  4. टाइप्स के अनुसार। 

हालाँकि आपको बता दे की ये कोई स्पेसिफिक ऑफिसियल टाइप्स नहीं है इनको मैंने अपने हिसाब से बाटा है। आइये हम सबसे पहले ब्लॉग के नीच के आधार पर बाटते हैं लेकिन उससे पहले अगर आपको नीच नहीं पता है तो हम आपको बता दे की आपका ब्लॉग किस तरह के टॉपिक पर है जैसे फाइनेंस, हेल्थ, स्पोर्ट्स इत्यादि। 

निच के आधार पर ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं?

ब्लॉग्गिंग क्या होता है, ब्लॉग्गिंग कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों निच के आधार पर ब्लॉग मुख्य तौर पर मैं तीन टाइप्स में बाटत्ता हूँ। सबसे पहले होता है मल्टी नीच, इसका मतलब होता है की वैसा ब्लॉग जो कई सारे टॉपिक को कवर करता है। जैसे न्यूज़ वेबसाइट हमेसा सभी प्रकार के टॉपिक को कवर करते हैं। 

इसके बाद होता है सिंगल नीच ब्लॉग, ये ब्लॉग किसी स्पेसिफिक टॉपिक को सीओ कवर करते है जैसे सिर्फ फाइनेंस, सिर्फ हेल्थ या सिर्फ बॉलीवुड की जानकारी। इन सभी के एक्साम्प्ल आपको मैं कुछ रेफरन्स वेबसाइट दे कर समझा रहा हूँ। 

इसके बाद होता है माइक्रो नीच जो सिंगल नीच से भी बहुत स्पेसिफिक, और टू द पॉइंट टॉपिक पर होता है। जब हम सिंगल नीच की बात करते हैं तो उस नीच को भी बहुत सारे टॉपिक में बाट सकते हैं।

उदाहरण के लिए हम गेम्स की बात करे तो गेम्स कंप्यूटर में भी होते हैं मोबाइल में भी होते हैं लेकिन हम सिर्फ पब्जी मोबाइल गेम की बात करे तो यह एक माइक्रो नीच ब्लॉग का उदाहरण है। 

यहाँ पर आपको मैं कुछ माइक्रो नीच ब्लॉग का उदाहरण दे रहा हूँ – 

तो दोस्तों ये थे जानकारी की नीच के आधार पर ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं। आइये अब हम लोग जानते हैं की भाषा के अनुसार ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं। 

भाषा के अनुसार पर ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों भाषा के अनुसार पर ब्लॉग कई तरह के हो सकते हैं। इसका सीधा – सीधा जवाब है की आप सभी प्रकार के भाषा में ब्लॉग को बना सकते हैं। इस प्रकार से आप अलग – अलग भाषा में ब्लॉग बना और देख सकते हैं जैसे हिंदी में ब्लॉग, इंग्लिश में ब्लॉग, या फिर गुजराती में ब्लॉग। 

हालाँकि आपको बता दे की बहुत से लोग अपने ब्लॉग को ट्रांसलेटर टूल की मदद से कई सारे मल्टीप्ल भाषा में रखते हैं पर ज्यादा अच्छा यही रहता है की खुद से उस भाषा में अच्छे से जानकारी लिखा जाए क्यूंकि टूल के द्वारा शब्दों का सही मतलब अच्छे से नहीं नीकल पाता है। 

जगह के अनुसार ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं?

दोस्तों जगह के अनुसार बोलने का मेरा मतलब यह है की ब्लॉग को हम लोग लोकेशन की हिसाब से भी बाट सकते हैं। इसका मतलब की इंटरनेट पर बहुत सारे ब्लॉग है।

पर वैसे ब्लॉग जो अगर चाइनीस में हैं तो वे ब्लॉग आपको चाइना में ही दिखाई देंगे। वैसे ब्लॉग जो हिंदी में है तो वो आपको इंडिया में ही दिखाई देंगे। इसका मतलब की किसी देश की भाषा के अनुसार अलग – अलग ब्लॉग होते हैं। 

पर अब तो भारत में भी आपको कई प्रकार के ब्लॉग मिल जाएंगे जैसे बंगाली ब्लॉग, आपको ज्यादातर बंगाल के लिए, मराठी ब्लॉग महाराष्ट्र के लिए, गुजरती ब्लॉग गुजरात के लिए, या फिर तेलुगु ब्लॉग तमिल लोगो के लिए।

इस प्रकार से अलग – अलग जगह पर अलग – अलग भाषा चलती है तो कई सारे ब्लॉग को हम किसी ख़ास जगह के टारगेट करने के लिए ब्लॉग को जगह के अनुसार भी बाट सकते हैं। 

वेबसाइट के कुछ और प्रकार।

दोस्तों चौथा प्रकार बताने से पहले मैं आपको यह बात बताना चाहते हैं कि वेबसाइट पर मोनेटाइजेशन के जरिए तीन तरह के वेबसाइट से पैसे कमाए जा सकते हैं।

हालांकि इनमें से दो तरीके ब्लॉग वेबसाइट तो नहीं है, पर यह टॉपिक ब्लॉगिंग के अंदर ही ज्यादातर कवर किये जाते हैं। जानकारी बहुत ही महत्वपूर्ण है इसलिए हमने सोचा क्या को इस आर्टिकल में इसकी जानकारी दे दी जाए।

दोस्तों वेबसाइट से पैसे कमाने का तरीका में यह भी कुछ प्रकार के वेबसाइट आते हैं।

  1.  जैसे मैं फॉर्म वेबसाइट
  2.  फ्री ऑनलाइन टूल वेबसाइट
  3.  फ्री ऑनलाइन एप्लीकेशन गेम वेबसाइट
  4.  या फिर सिंगल पेज लैंडिंग वेबसाइट।

हालांकि है वेबसाइट ब्लॉग वेबसाइट के अंदर तो नहीं आते हैं पर यह सब वेबसाइट ब्लॉगर ही चलाते हैं। क्योंकि इनमें अर्निंग एक ब्लॉगर के वेबसाइट की तरह ही होती है।

इससे पहले कि हम आपको इन चारो वेबसाइट के बारे आपको हम डिटेल में समझाएं। हमारे लिए जाना सबसे ज्यादा सबसे महत्वपूर्ण है की आखिर लोग इन ब्लॉग वेबसाइट से पैसे कैसे कमाते हैं।

तो आइये दोस्तों हम लोग जानते हैं कि लोग ब्लॉग वेबसाइट से पैसे कैसे कमाते हैं।

ब्लॉगर लोग वेबसाइट से पैसे कैसे कमाते हैं?

दोस्तों एक बहुत ही फेमस कहावत है कि लोग सिर्फ और सिर्फ अपना फायदा देखते हैं कोई किसी की यु ही मदद नहीं करता है। इस बात को कहने का मेरा मतलब यह दोस्तों की इंटरनेट पर जितने भी वेबसाइट है

जैसे आज तक हिंदुस्तान टाइम्स दैनिक भास्कर या फिर अंग्रेजी ब्लॉग जैसे टाइम्स ऑफ इंडिया, हिंदुस्तान टाइम्स यह सब अगर आपको न्यूज़ और जानकारी प्रदान करें तो सिर्फ इसलिए क्योंकि आपके द्वारा देखे जाने न्यूज़ और जानकारी पर यह लोग पैसे कमाते हैं।

आइये दोस्तों हम इस पूरे सिस्टम को समझते हैं। दोस्तों बड़े-बड़े कंपनी और ब्लॉगर सबसे पहले एक वेबसाइट बनाते हैं, फिर ये लोग वेबसाइट पर जानकारी अपलोड करते हैँ।

फिल्म जनकारी को लोग अलग-अलग माध्यम जैसे सोशल मीडिया के माध्यम से, या सर्च इंजन के माध्यम से लोगों तक पहुंचाते हैं।

फिर जब लोग इनके वेबसाइट पर आने लगते हैं। और फिर शुरू होता है इन लोगों का पैसे कमाने का खेल, हेलो अलग-अलग कंपनी के एडवर्टाइजमेंट को अपने वेबसाइट पर लगाते हैं।

और जितने ज्यादा लोग उनके वेबसाइट पर आते हैं इतना ज्यादा इन लोगों की कमाई होती है। वेबसाइट पर कमाई कितनी और कैसी होती है? दोस्तों ऐसे में आप सोच भी नहीं सकते कि यह लोग 1 दिन में कितने की कमाई करते हैं।

दोस्तों के वेबसाइट पर कमाई की बात की जाए हर एक अलग – अलग वेबसाइट के लिए उसकी कमाए अलग – अलग तरीके से होती है। पर फिर भी इस चीज को आप सिंपल में समझने की कोशिश कीजिए तो या दो चीजों पर निर्भर करती है।

पहला की वेबसाइट को किस देश से ज्यादा देखा जा रहा है, उदाहरण के लिए अमेरिका सिंगापुर, ब्राजील, कनाडा, लंदन यह सब देश में कमाई सबसे ज्यादा होती है इसके अलावा अगर हम बात करें एशियन देश की जैसे इंडिया, नेपाल, श्रीलंका यह सब देशों में थोड़ी कमाई कम होती है।

पर इसका मतलब यह नहीं क्या थोड़ी कमाई कुछ हजार रुपे में तौली जाए। यह वेबसाइट इंडिया में भी काम कर के हर महीने करोड़ों रूपये की कमाई करते हैं। हम आपको इनकम आए थे सिस्टम के बारे में संपूर्ण जानकारी आगे बताएंगे कैसे यह लोग वेबसाइट से कितना पैसा कमाते हैं।

उसके बाद अगर द साइड से पैसे कमाने में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण बात होती है कि वेबसाइट का टॉपिक क्या है। इसका मतलब दोस्तों की अगर वेबसाइट यह सब नीच में से किसी एक टॉपिक पर रहेगा जैसे स्टॉक मार्केट, क्रिप्टोकरंसी, बैंक लोन इत्यादि तो ब्लॉग वेबसाइट पर कमाई बहुत ज्यादा होगी।

वहीं अगर ब्लॉग इन टॉपिक पर हो जैसे बॉलीवुड न्यूज़, इंटरटेनमेंट जानकारी, या फिर खाना बनाने की विषय में तो ब्लॉक पर कमाए फाइनेंस ऐसे टॉपिक के मुकाबले थोड़ी कम होगी पर मैं फिर से बोल रहा हूं कि थोड़ी कम भी बहुत ही ज्यादा अमाउंट होती है।

ब्लॉगिंग का शुरुआत करें और इसे बिजनेस बनाएं।

दोस्तों में अगर इस टॉपिक पर बात करूं कि ब्लॉकिंगक्यू अच्छा है तो आर्टिकल शायद बहुत ही बड़ा चला जाए। ब्लॉकिंग आज के डेट में एक बहुत ही अच्छा बिजनेस है दोस्त।

लोग ब्लॉगिंग से इतना ज्यादा पैसा कमा रहे हैं की जितना शायद एक सॉफ्टवेयर डेवलपर या आप लाखों रुपए लगाकर किसी बिजनेस से भी नहीं कमा सकते हैं।

यह एक ऐसा बिजनेस हैं दोस्तों जिसे आप बिना पैसे लगाए हुए भी स्टार्ट कर सकते हैं। दोस्तों एक बार अगर एक बार आप ब्लॉगिंग से पैसा कमाना सीख जाइएगा यकीन मानिए दोस्तों इससे अच्छा बिजनेस आपको कोई और बिजनेस अच्छा नहीं लगेगा।

दोस्तों मैंने ब्लॉगिंग के फील्ड से अपने दोस्तों के साथ मिलकर 1 साल में मैंने एक लाख से ज्यादा पैसे कमाए हैँ। मेरे ऐसे कई दोस्त हैं जब बलॉगिंग की मदद से हर महीने हजारों रुपए कमा रहे हैं। पर दोस्तों मैं ब्लॉगिंग के बारे में जितना जानता हूं और मैंने जितना भी पैसे कमाए हैं

मैं आप लोगों से वह पूरी ईमानदारी के साथ शेयर करूंगा। मुझे पूरा अपने आप पर भरोसा है मैं ब्लॉगिंग के मदद से एक समय पर लाखों करोड़ों कमाऊंगा। 

यह बात मैं इसलिए बोल रहा हूं दोस्तों क्योंकि मैंने वेबसाइट और ब्लॉगिंग के माध्यम से जब मैं 1 साल में अपने दोस्तों के साथ ₹100000 ज्यादा कमा सकता हूं तो मैं एक करोड़ रुपया भी कमा सकता हुँ। दोस्तों आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़िए अरे वादा करता हूं कि आप भी ब्लॉगिंग के मदद से पैसे कमा पाइएगा।

निष्कर्ष:

दोस्तों जब मैं भी इस फिल्म में बहुत ही नया था डोमेन, वेबसाइट, होस्टिंग इत्यादि सब बातों के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं था। लेकिन मैंने इन चीजों को सीखा और मैंने वेबसाइट से पैसे कमाना सीखा। आना चाहता हूं दोस्तों की आप भी अपने घर बैठे इंटरनेट की मदद से पैसे कमाना सीखिए, और ब्लॉगिंग को बिजनेस बनाइये।

Leave a Comment