Tata Group: शेयरों में अचानक गिरावट, क्या हो गया?

11 मार्च को Monday को शेयर बाजार में एक बड़ा उलटफेर देखने को मिला, खासकर Tata Group के स्टॉक्स में. Tata Sons के IPO की संभावना के चर्चे के बीच, अचानक यह खबर आई कि निकट भविष्य में इसका IPO नहीं आएगा,

जिससे इन्वेस्टर्स की निराशा का असर सीधे stocksपर पड़ा. पिछले हफ्ते, जब IPO की संभावनाएं जताई गई थीं, तो Tata Group के स्टॉक्स में जबरदस्त तेजी देखी गई थी, लेकिन अब, स्थिति ठीक उलट हो गई है.”

Tata Chemicals’ Downfall

विशेष रूप से, Tata Chemicals के stock में 10% की गिरावट देखी गई. इस गिरावट की प्रमुख वजह यह थी कि Spark Capital की एक रिपोर्ट के अनुसार, Tata Sons के IPO से Tata Chemicals को सबसे अधिक लाभ होने की उम्मीद थी. अब, IPO की संभावना कम होने से Investors में निराशा की लहर है।

RBI’s Role and Future Prospects

Tata Sons, जो कई Tata Group कंपनियों की मूल कंपनी है, RBI के नियमों के अनुसार, CIC के रूप में रजिस्टर्ड है और इसे अपर-लेयर NBFC के रूप में भी मान्यता प्राप्त है।

RBI के नियमों के तहत, Notificationजारी होने के तीन साल के भीतर ऐसी कंपनियों को एक्सचेंज पर List होना आवश्यक है, इसलिए Tata Sons के लिए सितंबर 2025 तक लिस्ट होना अनिवार्य है।

Overall Impact

इस घटना का असर Tata Group की अन्य companiesपर भी पड़ा, जैसे कि Tata Investment Corp, Tata Technologies, Tata Consumer Products, Tata Teleservices, Tata Steel, Tata Power, India Hotels, और Tata Motors, जिनमें 1% से 5% तक की गिरावट देखी गई।

Tata Sons IPO के लॉन्च होने पर, इसे भारत का सबसे बड़ा IPO माना जा रहा है, जो कि LIC IPO को भी पीछे छोड़ सकता है। Spark Capital की रिपोर्ट के अनुसार, Tata Sons का वैल्यूएशन करीब ₹7-₹8 lakh crore हो सकता है, जो कि Tata Group की कंपनियों के market कैपिटलाइजेशन पर आधारित है।

Leave a Comment